Friday, 26 June 2020

काश फूलों की कोई दुकान होती !

काश फूलों की कोई दुकान होती, हमें भी उसकी पहचान होती !
भर देते उसके दामन में खुशिया सारी, चाहे कीमत उसकी हमारी जान होती !
😊😊

2 comments: